Wednesday, January 29

तीसरे टी20 से पहले भारत के सामने होगी चयन की दुविधा

पुणे, (भाषा)। श्रीलंका के खिलाफ तीसरे और अंतिम टी20 से पहले भारतीय टीम के सामने यह दुविधा बनी होगी कि वह जीत हासिल करने वाले संयोजन के साथ बरकरार रहे या फिर संजू सैमसन और मनीष पांडे को क्रीज पर जरूरी समय मुहैया कराये। इंदौर में अनुभवहीन श्रीलंकाई टीम कहीं भी भारत को टक्कर देती नहीं दिखी और इसे देखते हुए पांडे और सैमसन को टीम में शामिल किया जा सकता है। पांडे ने मौजूदा श्रृंखला सहित पिछली तीन सीरीज में महज एक मैच खेला है। वहीं नवंबर में बांग्लादेश श्रृंखला में वापसी करने वाले सैमसन को अभी तक एक भी मैच में खेलने का मौका नहीं मिला है।
अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 विश्व कप को देखते हुए भारत टीम संयोजन में प्रयोग करता आ रहा है लेकिन इन खिलाड़ियों का इम्तिहान लेना बाकी है। वहीं दूसरी ओर सीनियर खिलाड़ियों की अनुपस्थिति ने शार्दुल ठाकुर और नवदीप सैनी के लिये प्रभाव छोड़ने का मौका बना हुआ है और उन्होंने पिछले मैच में मिलकर पांच विकेट झटककर प्रभावित भी किया। वाशिंगटन सुंदर और चोटिल हार्दिक पंड्या की जगह उतारे गये शिवम दुबे को अपनी काबिलियत दिखाने के काफी मौके मिले।
इंदौर में जीत हासिल करने के बाद कप्तान विराट कोहली ने बताया कि टीम हर मैच के साथ बेहतर होती जा रही है। उन्होंने ऐसा भी संकेत दिया कि प्रसिद्ध कृष्णा आस्ट्रेलिया में होने वाले विश्व कप के लिये ‘सरप्राइज पैकेज’ हो सकते हैं। सैमसन और पांडे बेंच पर रहने से थोड़े निराश होंगे लेकिन शुक्रवार को उन्हें मौका दिया जा सकता है। हालांकि इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि टीम प्रबंधन श्रृंखला जीतने के इरादे से ही अंतिम एकादश का चयन करेगा। ध्यान शिखर धवन पर भी लगा होगा जो लोकेश राहुल के साथ दूसरे सलामी बल्लेबाजी के स्थान की दौड़ में हैं। हालांकि इस समय राहुल आस्ट्रेलिया में रोहित शर्मा के जोड़ीदार की दौड़ में उनसे आगे दिखते हैं। जसप्रीत बुमराह हालांकि मंगलवार को वापसी मैच में अच्छा नहीं कर सके लेकिन वह अंतिम मैच में शानदार प्रदर्शन करना चाहेंगे। पंड्या के एक्शन में वापसी के बाद अगर दुबे टीम में अपना स्थान कायम रखना है तो बल्लेबाजी का मौका मिलने पर उन्हें बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा।