Friday, November 15

भाजपा का गंदे पानी की सप्लाई का आरोप

नयी दिल्ली। दिल्ली में दूषित पानी को लेकर भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच सिसायत तेज हो गई है। प्रदेश भाजपा, जहां दिल्ली सरकार पर गंदे पानी की आपूर्ति का आरोप लगा रही है। वहीं सरकार के मुखिया कहना है कि दिल्ली भाजपा पानी पर सिर्फ राजनीति कर रही है। दिल्ली का पानी साफ है, यह खुद केंद्र सरकार के मंत्री कह चुके हैं।
भाजपा ने रविवार को दूषित पानी को लेकर एक रिपोर्ट जारी करते हुए केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाए हैं। इस पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में पानी साफ है। यह हम नहीं, बल्कि खुद भाजपा शासित केंद्र सरकार के जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली का पानी यूरोपीय मानकों के अनुरूप है। ऐसे में दिल्ली भाजपा के नेता दूषित पानी आपूर्ति का आरोप लगाकर सिर्फ राजनीति कर रहे हैं।
सबसे पहले पासवान ने आरोप लगाया था : कई दिनों से दिल्ली में पानी को लेकर बयानबाजी हो रही है। सबसे पहले केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने दूषित पानी की आपूर्ति का आरोप लगाया था। इसके बाद केंद्रीय जल शक्ति मंत्री ने इस पर दिल्ली सरकार को क्लीन चिट दी थी। उसके बाद अब रविवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए फिर दूषित जलापूर्ति करने का आरोप लगाया है।
बीआईएस रिपोर्ट का हवाला :
भाजपा के प्रदेश मुख्यालय पर रविवार को पत्रकार वार्ता कर प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि बीआईएस की जांच रिपोर्ट के बाद यह स्पष्ट हो गया है कि दिल्ली का पानी पीने योग्य नहीं है।
जांच में पानी के सभी नमूनों में कमियां मिली हैं। इसके चलते गरीब लोग भी पानी खरीदकर पी रहे हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि 56 महीनों में दिल्ली सरकार पीने का पानी तक नहीं दे पाई। चुनावों के चलते झूठे वादों से लोगों को गुमराह किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि बीआईएस की जांच रिपोर्ट में सभी नमूनों में कमी है। लोगों को प्रदूषित पानी से बीमारी हो रही है। सरकार पानी को लेकर कोई कदम नहीं उठा रही है, जबकि खुद सीएम जल बोर्ड के अध्यक्ष हैं।
कालाबाजारी खत्म करने का दावा : सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि भाजपा ने 2019 के घोषणा पत्र में वादा किया था कि पांच साल में सभी को बीआईएस के मानक से पानी उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद पानी की काला बाजारी और टैंकर माफिया को खत्म किया जाएगा और हर घर को साफ जल दिया जाएगा। नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि पानी नहीं देने वाली सरकार को सत्ता में रहने का हक नहीं है। दूषित पानी के मुद्दे पर मुख्यमंत्री चुप हैं। पहले आप सरकार ने दिल्ली की हवा को प्रदूषित किया और अब जल प्रदूषित हो गया है। सत्ता में बने रहने के लिए झूठे वादे किए जा रहे हैं, लेकिन पानी पर कोई ठोस उपाय नहीं किया जा रहा है।