Tuesday, October 15

मारवाड़, लाॅर्ड कृष्णा, बिझौली में दिया स्वच्छता का संदेश

रुड़की। सादा जीवन और उच्च विचार के पोषक मोहनदास करम चन्द गांधी ने भारत को ही नहीं अपितु पूरे विश्व को भारत के उदात्त मूल्यों की शिक्षा दी। उन्होंने सामाजिक बुराइयों जैसे धूम्रपान, शराब, छुआछूत, मांसाहार और आपसी बैरभाव का पूरजोर विरोध किया। वो सच्चाई और अहिंसा के पथ प्रदर्शक रहे। महात्मा गांधी, लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर लार्ड कृष्णा पब्लिक स्कूल में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। डायरेक्टर राजकुमार उपाध्याय ने कहा कि चंपारण आन्दोलन के बाद गांधी आजादी की लड़ाई केंद्र बिंदु बन गए। उनके नेतृत्व में असहयोग आन्दोलन चले। जिनमें गांधी कई बार जेल गए। परन्तु उन्होंने धैर्य से अपनी लड़ाई जारी रखी।
गांधी का कहना था मेरा जीवन सन्देश हैं और जो बदलाव तुम दुनिया में देखना चाहते हो उसे पहले खुद में लाना होगा। बाहर की स्वच्छता के साथ गांधी ने भीतर की स्वच्छता का भी सन्देश दिया। उपाध्याय ने अपनी कविता बापू से भेंट सुनाई जो उन्होंने राजघाट पर बैठकर लिखी थी। शिक्षिका बीना धीमान ने दे दी हमें आजादी बिना खड़ग बिना ढाल गीत गाया। निशा गुप्ता, तृप्ति वर्मा ने बहुत सुन्दर गीत गाया। छात्रों ने सुन्दर कविता व गीत गाये। गांधी के विचार प्रस्तुत किये। तन्मय, सूरज, विशु वंदना, सुनाक्षी, सत्यम भटनागर, प्रिया सैनी, अंकुश कश्यप, परी सैनी, नीलाक्षी मिश्रा, आयुष दुबे, हिमानी, अलोक ने गांधी के जीवन से जुड़े किस्से सुनाये। इस मौके पर गीता सैनी, सुनीता अरोरा, दिव्यांशी, अनिल कुमार, बबीता शर्मा, बिमलेश शर्मा, सीमा उपाध्याय, अनीता शर्मा, प्रीती, छवि दीक्षित, श्रेया, राखी चैहान, राधिका, रीना उपाध्याय, निशा गुप्ता, स्मृति, नेहा शर्मा, बरखा, संगीता मौजूद रहे।
राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बिझौली में महात्मा गांधी, लाल बहादुर शास्त्री जयंती पर स्वच्छता व प्लास्टिक मूक्त भारत की शपथ ली गई। इसे लेकर शिक्षकों व छात्रों ने गांव में जागरूकता रैली भी निकाली। कार्यक्रम प्रभारी एवं कार्यवाहक प्रधानाचार्य अशोक पाल ने कहा कि स्वच्छ भारत गांधी का सपना था, जो आज पूरा होता दिख रहा है। प्लास्टिक मुक्त भारत को लेकर भी हमे पाॅलिथीन व सिंगल यूज प्लास्टिक का पूरी तरह से विरोध करना होगा। तभी गांधी के सपनों का भारत बन पाएगा। अशोक पाल ने कहा कि गांधी ने सत्य, अहिंसा व भाईचारे का संदेश दिया। छात्रों को गांधी के विचार अपने जीवन में उतारकर आगे बढ़ना होगा।
इस मौके पर शिक्षक मो. सलीम, इसराना, प्रतिभा, अजय शर्मा व छात्र नदीम, फरदीन, सादिया, समीर, टीना, फरमाना, सारिक, प्रवीन मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *