Friday, November 15

330 ग्रामों में 10,000 फलदार पौधों का निरूशुल्क वितरण

नई दिल्ली। कोडरमा अंचल द्वारा स्वास्थ्य रक्षा हेतु पोषण वाटिका योजना के तहत 11 संचों के 330 ग्रामों में 10,000 फलदार पौधों का निरूशुल्क वितरण किया गया जिसमें मुख्य रूप से आमए अमरुद एवं नींबू के उन्नत किस्म के कलमी पौधें शामिल थे।
कार्यक्रम में मुख्य अतिथि अन्नपूर्णा देवी सांसद कोडरमा, विशिष्ट अतिथि सूरज कुमार सिंह, प्रमंडल वन पदाधिकारी कोडरमा एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी कोडरमा के कार कमलों द्वारा झुमरी तिलेया, कोडरमा एवं चंदवारा संघ के ग्रामीणों के बीच पौधों का वितरण किया गया एवं बाकी के 8 संचों में दायित्वधारियों एवं आचार्यो को संच ग्रामों में वितरण के लिए पौधे वाहन में रखवा कर गाड़ियों को रवाना किया गया। मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि तथा समाज से आए हुए प्रबुद्ध जनों ने कार्यक्रम की भूरी भूरी प्रशंसा की तथा कहा कि वन बंधु परिषद कोडरमा ने पर्यावरण सुरक्षा एवं पोषण को एक साथ जोड़कर एक साथ 10,000 फलदार पौधों का वितरण कर समाज में इसे एक आंदोलन का स्वरूप प्रदान किया हैप् जिससे इस उद्देश्य की पूर्ति कम समय में होना संभव होगा। कार्यक्रम के प्रणेता रामरतन महर्षि उपाध्यक्ष हजारीबाग जिनकी प्रेरणा से कोडरमा अंचल में वर्ष 2018 में फलदार पौधों का वितरण किया गया था। यह पौधे बंगाल की नर्सरी से लाए जाते हैं। इस बार बृहत्त लिया गया था जिसे धरातल पर उतारने में धनबाद चैप्टर के अध्यक्ष महेंद्र अग्रवाल सचिव दीपक रुईया, भारत लोक शिक्षा परिषद पूर्वी दिल्ली चैप्टर के क्षेत्रीय चेयरमैन एवं कोडरमा अंचल के मुख्य सह संस्थापक नवल दारूका, अध्यक्ष , दीनदयाल केडिया, कोषाध्यक्ष मनोज साव एवं जिमखाना क्लब के अध्यक्ष सह अंचल समिति सदस्य प्रदीप केडिया एवं पूर्णकालिक कार्यकर्ताओं एवं दानदाताओं का पूर्ण सहयोग रहा।