Monday, July 6

Business

बैंक धोखाधड़ी : सीबीआई ने सात स्थानों पर छापे मारे

बैंक धोखाधड़ी : सीबीआई ने सात स्थानों पर छापे मारे

Business, National
सीबीआई ने 787 करोड़ रुपये की कथित बैंक धोखाधड़ी के मामले में रतुल पुरी और अन्य लोगों के कार्यालय और आवासीय परिसरों समेत सात स्थानों पर शुक्रवार को तलाशी ली। यह मामला उनकी कंपनी मोजर बेयर सोलर लिमिटेड से जुड़ा है। अधिकारियों ने बताया कि तलाशी सुबह शुरू की गई और अब भी चल रही है। उन्होंने बताया कि रतुल पुरी के पिता दीपक पुरी के कार्यालय और आवासीय परिसर पर भी तलाशी ली गई। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने इस कंपनी को दिए कर्ज में पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को हुए कथित 787 करोड़ रुपये के नुकसान के संबंध में बृहस्पतिवार को मामला दर्ज किया था। एजेंसी की तलाशी लेने वाली टीम ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर एहतियाती कदम के तौर पर निजी सुरक्षा उपकरण (पीपीई) किट का इस्तेमाल किया है।
स्विस बैंकों में जमा विदेशियों के धन में भारतीयों का हिस्सा मात्र 0.06 प्रतिशत, 77वें स्थान पर

स्विस बैंकों में जमा विदेशियों के धन में भारतीयों का हिस्सा मात्र 0.06 प्रतिशत, 77वें स्थान पर

Business, Uncategorized
 स्विट्जरलैंड के बैंकों में भारतीय नागरिकों तथा कंपनियों के जमा धन के मामले में भारत तीन स्थान फिसलकर 77वें स्थान पर पहुंच गया है। स्विट्जरलैंड के केंद्रीय बैंक के ताजा आंकड़ों में यह जानकारी मिली है। इस सूची में ब्रिटेन पहले स्थान पर कायम है। पिछले साल भारत इस सूची में 74वें स्थान पर था। स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) द्वारा जारी वार्षिक बैंकिंग आंकड़ों से पता चलता है कि भारतीय नागरिकों और कंपनियों द्वारा धन जमा करने के मामले में भारत काफी निचले पायदान पर आता है। स्विस बैंकों में विदेशियों द्वारा जमा धन में भारतीयों का हिस्सा मात्र 0.06 प्रतिशत है। वहीं 2019 के अंत तक सूची में पहले स्थान पर रहने वाले ब्रिटेन के नागरिकों का कुल जमा धन में हिस्सा 27 प्रतिशत है। एसएनबी के ताजा आंकड़ों के अनुसार भारतीय नागरिकों तथा कंपनियों (भारत में स्थित शाखाओं के जरिये जमा सहित) का स्विस बैंकों में
इंडिया सीमेंट को जनवरी-मार्च तिमाही में 11.76 करोड़ रुपये का घाटा

इंडिया सीमेंट को जनवरी-मार्च तिमाही में 11.76 करोड़ रुपये का घाटा

Business
 इंडिया सीमेंट को 31 मार्च 2020 को समाप्त तिमाही में 11.76 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है। इससे पिछले वित्त वर्ष 2018-19 की इसी तिमाही में कंपनी ने 32.57 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। शेयर बाजार को दी जानकारी में कंपनी ने बुधवार को कहा कि समीक्षावधि में उसकी परिचालन आय 26.62 प्रतिशत घटकर 1,176.40 करोड़ रुपये रही। इससे पिछले वित्त वर्ष की जनवरी-मार्च तिमाही में यह आंकड़ा 1,603.36 करोड़ रुपये था। इस दौरान कंपनी का कुल व्यय 1,253.09 करोड़ रुपये रहा जो इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि के 1,575.82 करोड़ रुपये के व्यय से 20.48 प्रतिशत कम है। हालांकि पूरे वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी का शुद्ध लाभ दोगुना होकर 53.46 करोड़ रुपये हो गया जो इससे पिछले वित्त वर्ष 2018-19 में 25.26 करोड़ रुपये था। कंपनी के निदेशक मंडल ने बुधवार को हुई बैठक में प्रति शेयर 60 पैसे लाभांश देने
बैंककर्मियों की सुरक्षा, सम्मान को नुकसान पहुंचाने की इजाजत किसी को नहीं : सीतारमण

बैंककर्मियों की सुरक्षा, सम्मान को नुकसान पहुंचाने की इजाजत किसी को नहीं : सीतारमण

Business
गुजरात के सूरत में एक महिला बैंककर्मी के साथ बैंक परिसर में ही मारपीट की घटना का वीडियो वायरल होने के एक दिन बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि उनकी इस मामले पर नजर है। उन्होंने कहा कि बैंक कर्मचारियों की सुरक्षा और सम्मान को नुकसान पहुंचाने की इजाजत किसी को नहीं दी जा सकती। सीतारमण ने ट्वीट कर कहा कि उनके कार्यालय ने इस बारे में सूरत शहर के पुलिस आयुक्त आर बी ब्रह्मभट्ट से से बात की है। पुलिस आयुक्त ने भरोसा दिलाया है कि दोषी कांस्टेबल को तत्काल निलंबित किया जाएगा। महिला बैंककर्मी के साथ मारपीट का वीडियो मंगलवार को ट्विटर पर वायरल हुआ। सीतारमण ने कहा, ‘‘हमारी इस मामले पर नजदीकी नजर है। सभी बैंककर्मियों की सुरक्षा हमारे लिए महत्वपूर्ण है। इस चुनौतीपूर्ण समय में बैंककर्मी लोगों को सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। उनकी सुरक्षा और सम्मान को नुकसान पहुंचाने की अनुमति किसी
चालू वित्त वर्ष में 5.3 प्रतिशत सिकुड़ेगी भारतीय अर्थव्यवस्था : इंडिया रेटिंग्स

चालू वित्त वर्ष में 5.3 प्रतिशत सिकुड़ेगी भारतीय अर्थव्यवस्था : इंडिया रेटिंग्स

Business, Uncategorized
 इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च का भारतीय अर्थव्यवस्था के चालू वित्त वर्ष 2020-21 में 5.3 प्रतिशत सिकुड़ने का अनुमान है। देश के इतिहास में यह सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की सबसे निचली वृद्धिदर होगी। रेटिंग एजेंसी ने बुधवार को कहा कि अर्थव्यवस्था में संकुचन का यह छठा अवसर होगा। रेटिंग एजेंसी की रपट में कहा गया है कि कोविड-19 महामारी की वजह से उत्पादन की रफ्तार और स्तर पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ा है। आपूर्ति श्रृंखला और व्यापार श्रृंखला टूट गई है। विमानन, होटल और आतिथ्य क्षेत्र में गतिविधियां पूरी तरह ठप (हालांकि, अब कुछ गतिविधियां शुरू हो रही हैं) हो गई हैं। ऐसे में पूरे वित्त वर्ष 2020-21 में आर्थिक गतिविधियों के सामान्य होने की उम्मीद नहीं है। रपट में कहा गया है कि पूरे वित्त वर्ष के दौरान अर्थव्यवस्था में गिरावट आएगी ही, प्रत्येक तिमाही के दौरान भी अर्थव्यवस्था नीचे आएगी। हालांकि, एजे
सरकार, आरबीआई के त्वरित कदम से अर्थव्यवस्था को ताकत मिली, नुकसान सीमित रहा: वित्त मंत्रालय

सरकार, आरबीआई के त्वरित कदम से अर्थव्यवस्था को ताकत मिली, नुकसान सीमित रहा: वित्त मंत्रालय

Business
वित्त मंत्रालय ने मंगलवार को कृषि, विनिर्माण और सेवा क्षेत्र की हालते में ‘‘प्रारंभिक सुधार के संकेतों’’ की तरफ इशारा करते हुये कहा कि सरकार और रिजर्व बैंक की ओर से उठाए गए गये त्वरित नीतिगत कदमों से अर्थव्यवस्था में नयी शक्ति का संचार करने और नुकसान सीमित करने में मदद मिली है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कृषि क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था का मूल आधार बना हुआ है। वर्ष के दौरान मानसून सामान्य रहने के अनुमान को देखते हुये अर्थव्यवस्था को और बल मिलने की उम्मीद है। बयान में कहा गया है ‘‘सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में हालांकि, क्षेत्र का योगदान (उद्योग और सेवा क्षेत्र के मुकाबले) बहुत बड़ा नहीं हो लेकिन कृषि क्षेत्र की वृद्धि का इस क्षेत्र पर निर्भर रहने वाली बड़ी आबादी पर सकारात्मक प्रभाव होता है।’’ वित्त मंत्रालय ने यहां जारी एक वक्तव्य में कहा है, ‘‘इसके साथ ही कृषि क्षेत्र में हाल मे
फेडरल बैंक को निदेशक मंडल से 12,000 करोड़ रुपये जुटाने की अनुमति

फेडरल बैंक को निदेशक मंडल से 12,000 करोड़ रुपये जुटाने की अनुमति

Business
फेडरल बैंक के निदेशक मंडल ने मंगलवार को बैंका को 12,000 करोड़ रुपये तक जुटाने की अनुमति दे दी। इसमें से ज्यादातर राशि कर्ज साधनों से जुटाई जायेगी। फेडरल बैंक ने शेयर बाजार को दी जानकारी में कहा कि उसके निदेशक मंडल ने 19 जून 2020 की बैठक में विभिन्न प्रकार के रिण साधनों के माध्यम से 8,000 करोड़ रुपये तक जुटाने की अनुमति दे दी। वहीं 4,000 करोड़ रुपये तक इक्विटी शेयर जारी करने और ऋण के मिले जुले साधनों के जरिये जुटाने के लिए मंजूरी दी है। बैंक इस पर शेयरधारकों से 16 जुलाई 2020 को वार्षिक आम सभा के दौरान मंजूरी लेगा। यह आम सभा वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये की जाएगी। बैंक ने कहा कि वह राइट्स इश्यू, निजी नियोजन, पात्र संस्थागत नियोजन, तरजीही आवंटन, अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम, वैश्विक डिपॉजिटरी, अमेरिकी डिपॉजिटरी, विदेशी मुद्रा परिवर्तनीय बांड इत्यादि के माध्यम से यह राशि जुटाएगा। बैंक क
कोविड- 19 के बाद भारत में आय में असमानता का अंतर कम हो जायेगा: एसबीआई रपट

कोविड- 19 के बाद भारत में आय में असमानता का अंतर कम हो जायेगा: एसबीआई रपट

Business, National
कोराना वायरस महामारी के बाद देश में विभिन्न राज्यों में लोगों की आय का अंतर कम हो जायेगा। इस दौरान धनी राज्यों की आय में गरीब राज्यों के मुकाबले अधिक कमी आने की संभावना है। स्टेट बैंक की शोध रपट ‘इकोरैप’ में यह कहा गया है। रपट में कहा गया है कि वित्त वर्ष 2020- 21 के दौरान अखिल भारतीय स्तर पर प्रति व्यक्ति आय 5.4 प्रतिशत घटकर 1.43 लाख रुपये सालाना रह जायेगी। रपट के अनुसार चालू वित्त वर्ष के दौरान महाराष्ट्र, गुजरात, तेलंगाना और तमिलनाडु जैसे धनी माने जाने वाले शहरों की प्रति व्यक्ति आय में 10 से 12 प्रतिशत तक की गिरावट आने का अनुमान है वहीं मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, बिहार, ओड़ीशा जैसे राज्यों में जहां प्रति व्यक्ति आय राष्ट्रीय औसत से कम है प्रति व्यक्ति आय में आठ प्रतिशत से कम की गिरावट आने का अनुमान है। एसबीआई की शोध रपट में कहा गया है, ‘‘हमारा मानना है कि कोविड-19 महामारी के बाद
अमेरिकी डालर के मुकाबले रुपया शुरुआती कारोबार में 16 पैसे चढ़कर 75.87 रुपये पर

अमेरिकी डालर के मुकाबले रुपया शुरुआती कारोबार में 16 पैसे चढ़कर 75.87 रुपये पर

Business
घरेलू शेयर बाजारों में तेजी और विदेशी कोषों के प्रवाह से निवेशक धारणा मजबूत रही। इससे मंगलवार को शुरुआती कारोबार में डालर के मुकाबले रुपया 16 पैसे बढ़कर 75.87 रुपये प्रति डालर पर पहुंच गया। विदेशी मुद्रा डीलरों का कहना है कि कच्चे तेल के दाम नीचे रहने से भी घरेलू मुद्रा को सहारा मिला। कारोबार की शुरुआत में डालर के मुकाबले रुपये की विनिमय दर 75.86 रुपये रही। हालांकि, इसके कुछ ही देर बाद यह मामूली गिरकर 75.87 रुपये प्रति डालर पर आ गई। फिर भी पिछले दिन के बंद भाव के मुकाबले यह 16 पैसे ऊंची रही। सोमवार को कारोबार की समाप्ति पर एक डालर के लिये 76.03 रुपये का भाव रहा था। दुनिया की छह मुद्राओं के समक्ष डालर की मजबूती को दर्शाने वाला डालर सूचकांक मंगलवार को मामूली 0.03 प्रतिशत बढ़कर 97.06 अंक पर रहा। उधर, अंतरराष्ट्रीय बाजार में ब्रेंट क्रूड तेल वायदा 0.19 प्रतिशत गिरकर 43 डालर प्र
महामारी के कारण बस, टैक्सी क्षेत्र में 20 लाख लोग हुए बेरोजगार: बीओसीआई

महामारी के कारण बस, टैक्सी क्षेत्र में 20 लाख लोग हुए बेरोजगार: बीओसीआई

Business, National
 बस व कार ऑपरेटरों के संगठन बीओसीआई के अनुसार, कोरोना वायरस महामारी के कारण बस-टैक्सी क्षेत्र में करीब 20 लाख लोगों की नौकरियां जा चुकी हैं। संगठन ने कहा कि अभी इतने ही लोगों के बेरोजगार होने का खतरा मंड़रा रहा है। बस एंड कार ऑपरेटर्स कंफेडरेशन ऑफ इंडिया (बीओसीआई) 15 लाख बसें, मैक्सी कैब और 11 लाख पर्यटन टैक्सी चलाने वाले 20 हजार ऑपरेटरों के प्रतिनिधित्व का दावा करता है। संगठन का दावा है कि ये ऑपरेटर एक करोड़ लोगों को रोजगार के अवसर मुहैया कराते हैं। संगठन ने कहा कि इस कठिन समय में निजी ऑपरेटरों को कर राहत तथा कर्ज के ब्याज में राहत के तौर पर सरकार से मदद की उम्मीद है, क्योंकि महामारी ने उन्हें बंद होने के कगार पर पहुंचा दिया है। बीओसीआई के अध्यक्ष प्रसन्ना पटवर्धन ने पीटीआई-भाषा को बताया, "लॉकडाउन के दौरान हमारे वाहनों में से 95 प्रतिशत सड़क से दूर थे। बहुत कम बसें कंपनी के