Tuesday, January 28

Maharashtra

फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलना देश के लिये खेलने से अलग : रमन

Maharashtra, Sports
मुंबई, (भाषा)। भारतीय महिला टीम के मुख्य कोच डब्ल्यूवी रमन नहीं मानते कि उन देशों को टी20 विश्व कप में कोई फायदा मिलेगा जिनकी खिलाड़ी फ्रेंचाइजी लीग में खेलती हैं क्योंकि देश के लिये खेलना बिलकुल अलग होता है। हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना और जेमिमा रोड्रिग्स तीन भारतीय क्रिकेटर हैं जो महिलाओं की प्रतिस्पर्धी बिग बैश लीग (डब्ल्यूबीबीएल) में खेल चुकी हैं लेकिन अन्य टीमों में कई खिलाड़ी ऐसी हैं जो नियमित रूप से इस लोकप्रिय टी20 प्रतियोगिता में खेलती हैं। रमन ने त्रिकोणीय श्रृंखला के लिये रवना होने से पहले प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलना एक चीज है और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट खेलना दूसरी बात है जिसमें आपके देश की टीम खेलती है और यह बिलकुल ही अलग तरह का खेल होता है। वे भले ही परिस्थितियों से वाकिफ हों लेकिन इसका मंच अलग होता है। दबाव भी अलग तरह का होता है। ’’ इस त्रिकोणीय श्र

चव्हाण के 2014 में गठबंधन सरकार बनाने के प्रस्ताव के दावे को शिवसेना ने किया खारिज

Maharashtra, National
मुम्बई, (भाषा)। शिवसेना ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण के उस दावे को बुधवार को खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि 2014 में हुए विधानसभा चुनाव के बाद भी उद्धव ठाकरे की पार्टी शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने भाजपा को रोकने के लिए मिलकर सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया था। शिवसेना ने उन दावों को खारिज करते हुए कहा कि ऐसे प्रस्ताव की उस समय कोई अहमियत नहीं थी। शिवसेना ने यह भी कहा कि कांग्रेस और राकांपा के साथ पिछले साल विधानसभा चुनाव के बाद गठन भी इसलिए हुआ क्योंकि राकांपा प्रमुख शरद पवार ने ‘‘भाजपा की राजनीतिक साजिश’’ सफल नहीं होने दी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गठबंधन के प्रस्ताव को ठुकराया नहीं। महाराष्ट्र में गत नवम्बर के आखिर में उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनी। चव्हाण ने पिछले सप्ताह 'पीटीआई-भाषा' को दिए

निराशा व असुरक्षा से विषाद ग्रस्त होती युवा शक्ति

Maharashtra
यौन अपराध, निर्भया अपराध व किशोर अपराधों की घटनाएं भारत में भी बढ़ने लगी है। पाश्चात सभ्यता का अंधाधुंध अनुकरण तथा एकल परिवार की व्यवस्था ने युवा पीढ़ी में असुरक्षा व कुण्ठा की भावना पैदा की है। भौतिकवाद के बढ़ते प्रभाव के कारण हमारे नौनिहाल भौकिता की अंधगर्त में गिर रहे हैं और भ्रमित महत्वकांक्षाएं पैदा कर रहे हैं । पश्चिम की सभी बिमारियां यहां भी विकशीत हो रही है, उसी का यह एक भाग है। संस्कार ग्रहण करने की उम्र में अपराध कर रहे हैं, जो भावी भारत की नकारात्मक पृष्ठ भूमि बना रहे हैं। पिछले एक दशक में इन अपराधों में अप्रत्याशित वृ़ि़द्ध हुई है। जिसकी रोकथाम के लिए एक समग्र दृष्टीकोण बनाना होगा । अहिंसावादी देश में जहाँ नारी को दुर्गा ,लक्ष्मी ,सरस्वती व गौरी के रूप में पूजा जाता है, इस तरह की घटनाएं एक गंभीर चिन्ता पैदा करती है। विद्या ददाति विनयम-विद्या विनय प्रदान करती है, प्रत्येक न
जेएनयू, शिवाजी वाली किताब पर ‘अभिव्यक्ति की आजादी’ का अलग-अलग पैमाना क्यों : शिवसेना

जेएनयू, शिवाजी वाली किताब पर ‘अभिव्यक्ति की आजादी’ का अलग-अलग पैमाना क्यों : शिवसेना

Maharashtra
मुंबई, भाषा। शिवसेना ने जेएनयू मामले और छत्रपति शिवाजी महाराज से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना वाली विवादित किताब पर ‘‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता’’ को लेकर ‘‘अलग-अलग मापदंड’’ अपनाने के लिए बुधवार को अपनी पूर्व सहयोगी भाजपा पर सवाल उठाया। शिवसेना ने मराठी मुखपत्र ‘‘सामना’’ में एक संपादकीय में मांग की है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय हिंदुत्व के विचारक वी डी सावरकर पर अशोभनीय टिप्पणी करने वालों के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश जारी करे। पार्टी ने उनके लिए भारत रत्न की भी मांग की है। दिल्ली भाजपा के नेता जय भगवान गोयल की किताब ‘आज के शिवाजी : नरेंद्र मोदी’ से महाराष्ट्र की राजनीति गर्मा गयी है। शिवसेना ने कहा, ‘‘जब एक अनजान सा भाजपा कार्यकर्ता एक किताब प्रकाशित कराता है तो भाजपा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के आधार पर उसका बचाव करती है लेकिन वह आसानी से भूल जाती है कि जेएनयू के छात्रों के मामले मे

सहवाग ने युवाओं को भ्रष्टाचार डोपिंग से बचने की सलाह दी

Maharashtra, National
मुंबई, (भाषा)। भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग ने क्रिकेट में भ्रष्टाचार और डोपिंग के मामलों पर चिंता जताते हुए कहा कि खेल के हर पहलू को साफ सुथरा रखना खिलाड़ियों के साथ प्रशासकों की भी जिम्मेदारी है। सहवाग ने बीसीसीआई पुरस्कार समारोह के दौरान रविवार रात को यहां ‘एमएके पटौदी स्मारक व्याख्यान’ में कहा कि खिलाड़ियों को कभी भी भ्रष्टाचार को लेकर हुए संपर्क के प्रयास की बात को छुपाना नहीं चाहिए। सहवाग ने कहा, ‘‘अगर आप इस खेल से प्यार करते हैं तो आपको ऐसे रास्ते पर नहीं जाना चाहिए। अगर आप ऐसा रास्ता चुनते है तो इसका मतलब यह है कि आप इस खेल को प्यार नहीं करते और सिर्फ पैसे के लिए खेलते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ अगर आप अच्छा खेलते हैं तो पैसे अपने आप आयेंगे। अगर कोई आप से (भ्रष्टाचार या फिक्सिंग के लिए) संपर्क करता है तो कृपया बीसीसीआई और आईसीसी को इसकी सूचना दिजिए, यह जरूरी है।
सलामी जोड़ी की गुत्थी सुलझी, आस्ट्रेलिया की मजबूत टीम से भिड़ने को तैयार भारत

सलामी जोड़ी की गुत्थी सुलझी, आस्ट्रेलिया की मजबूत टीम से भिड़ने को तैयार भारत

Maharashtra, Sports
मुंबई, भाषा। भारत की सलामी जोड़ी की पहेली का हल निकालने के लिए कप्तान विराट कोहली के आगे आने के बाद टीम इंडिया मंगलवार से यहां आस्ट्रेलिया की मजबूत टीम के खिलाफ शुरू हो रही तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला में घरेलू सरजमीं पर अपना शानदार रिकार्ड बरकरार रखने उतरेगी। कोहली ने कहा कि उन्हें बल्लेबाजी क्रम में नीचे आने में कोई हिचक नहीं है जिससे कि बेहतरीन फार्म में चल रहे लोकेश राहुल और अनुभवी शिखर धवन दोनों को अंतिम एकादश में जगह मिल सके। उन्होंने कहा, ‘‘हां, इसकी संभावना है। ऐसा करने में मुझे बेहद खुशी होगी। मैंने किसी क्रम को अपने लिए तय नहीं किया है। मैं कहां बल्लेबाजी करूं, इसे लेकर मैं असुरक्षित नहीं हूं।’’ आस्ट्रेलिया और भारत के बीच होने वाली इस द्विपक्षीय श्रृंखला में निजी प्रतिद्वंद्विताएं भी देखने को मिलेगी जिसमें रोहित शर्मा बनाम डेविड वार्नर तथा कोहली बनाम स्टीव स्मिथ की जंग रोमांचक

जेएनयू हमला: प्रदर्शनकारियों को गेटवे ऑफ इंडिया से आजाद मैदान भेजा गया

Maharashtra, National
मुम्बई, (भाषा)। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रों और शिक्षकों पर हुए हमले का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों को मंगलवार सुबह गेटवे ऑफ इंडिया से आजाद मैदान ले जाया गया क्योंकि सड़क जाम होने की वजह से आम लोगों और पर्यटकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से जाने की अपील की थी लेकिन वे माने नहीं, इसलिए उन्हें आजाद मैदान ले जाया गया। पुलिस उपायुक्त (जोन 1) संग्राम सिंह निशंदर ने कहा, ‘‘प्रदर्शन के कारण पर्यटक को परेशानी हो रही थी और यातायात समस्या उत्पन्न हो रही थी, इसलिए हमने प्रदर्शनकारियों से आजाद मैदान जाने को कहा था। लेकिन कुछ समूह हमारे बार-बार अनुरोध के बावजूद नहीं माने, इसलिए हम उन्हें आजाद मैदान ले गए।’’ हाथों में टैम्बोरिन और गिटार लिए तथा क्रांति के गीत गाते प्रदर्शनकारियों ने गेटवे ऑफ इंडिया और ताज महल पैलेस होटल
लोग अपना करियर 27-28 में शुरू करते हैं, मेरा उस उम्र में समाप्त हो गया: इरफान

लोग अपना करियर 27-28 में शुरू करते हैं, मेरा उस उम्र में समाप्त हो गया: इरफान

Maharashtra, Sports
मुंबई। इरफान पठान ने शनिवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा करने के बाद कहा, ‘‘लोग 27-28 साल की उम्र में अपना करियर शुरू करते हैं और मेरा करियर तब समाप्त हो गया जब मैं 27 साल का था और मुझे इसका अफसोस है। ’’ इरफान जब 19 साल के थे तब उन्होंने 2003 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की तरफ से पहला मैच खेला था। उन्होंने अपना आखिरी मैच 2012 में श्रीलंका के खिलाफ विश्व टी20 में खेला था। इरफान अब 35 साल के हैं। उन्होंने कहा, ‘‘लोग 27-28 साल की उम्र में अपना करियर शुरू करते हैं और मेरा करियर तब समाप्त हो गया जब मैं 27 साल का था तब मैंने 301 अंतरराष्ट्रीय विकेट हासिल कर लिये थे लेकिन मेरा करियर वहीं पर समाप्त हो गया। मुझे इसका अफसोस है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं चाहता था कि मैं और मैच खेलूं और अपने विकेटों की संख्या 500-600 तक पहुंचांऊ और रन बनाऊं लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। ’’ इरफान ने क

पाकिस्तानी आतंकियों के हौसले पस्त करने में नाकाम रही सर्जिकल स्ट्राइक: शिवसेना

Maharashtra
मुंबई, भाषा। शिवसेना ने 2016 में हुई सर्जिकल स्ट्राइक के प्रभाव पर शुक्रवार को सवाल उठाए और कहा कि ऐसा माना जा रहा था कि इससे पाकिस्तानी आतंकियों के हौसले पस्त होंगे लेकिन यह केवल एक ‘भ्रम’ बन कर रह गया है, क्योंकि भारत के सैनिक अब भी कश्मीर में आतंकी हमलों में जान गंवा रहे हैं। शिवसेना के मुखपत्र सामना के संपादकीय में कहा गया कि सीमाओं का अशांत होना देश के लिए अच्छा नहीं है। पार्टी ने जम्मू-कश्मीर में बुधवार को आतंक निरोधी अभियान के दौरान महाराष्ट्र के नासिक के रहने वाले सेना के जवान संदीप रघुनाथ सावंत की मौत की पृष्ठभूमि में यह कहा। संपादकीय में कहा गया, ‘‘कश्मीर में नए साल की शुरुआत अच्छी नहीं हुई। सातारा के जवान संदीप सावंत कश्मीर में शहीद हो गए हैं। नौशेरा क्षेत्र में सेना और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में संदीप सावंत सहित दो जवान शहीद हो गए। गत एक महीने में महाराष्ट्र क
महाराष्ट्र में कोई डिटेंशन सेंटर नहीं,मुसलमानों को डरने की जरूरत नहीं: उद्धव ठाकरे

महाराष्ट्र में कोई डिटेंशन सेंटर नहीं,मुसलमानों को डरने की जरूरत नहीं: उद्धव ठाकरे

Maharashtra, National
मुंबई, (भाषा)। संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रदर्शनों के बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एवं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि राज्य में कोई ‘डिटेंशन सेंटर’ नहीं है और उनके शासन में मुस्लिम नागरिकों को चिंतित होने की जरूरत नहीं है। ठाकरे ने मुस्लिम समुदाय के कुछ विधायकों के नेतृत्व वाले प्रतिनिधिमंडल को यह भरोसा दिलाया, जिन्होंने मुख्यमंत्री से सोमवार को मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा रहे राकांपा विधायक नवाब मलिक ने पीटीआई-भाषा से कहा कि नवी मुंबई के खारघर स्थित ‘डिटेंशन सेंटर’ मादक पदार्थों की तस्करी में संलिप्त विदेशी नागरिकों के लिए है। मलिक की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ठाकरे नीत महाराष्ट्र विकास आघाड़ी सरकार का हिस्सा है। मलिक ने मुख्यमंत्री को उद्धृत करते हुए कहा कि सिर्फ 38 लोग वहां (खारघर डिटेंशन सेंटर) रखे जा सकते हैं। यह जेल से रिहा होने के