Home International अमेरिका में चुनावी हिंसा की आशंका, व्हाइट हाउस को किले में बदला

अमेरिका में चुनावी हिंसा की आशंका, व्हाइट हाउस को किले में बदला

0
नेशनल एक्सप्रेस
वाशिगंटन, अमेरिका में चुनाव के दिन हिंसा की आशंका के बीच व्हाइट हाउस, प्रमुख वाणिज्य क्षेत्रों और बाजारों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

मंगलवार को होने वाले मतदान से पहले अहम सरकारी प्रतिष्ठान हाई अलर्ट पर हैं। सीक्रेट सर्विस (खुफिया सेवा) ने व्हाइट हाउस को किले में तब्दील कर दिया है। इसके बाद राष्ट्रपति के आवास के परिसर के चारों तरफ एक अस्थायी ऊंची दीवार खड़ी की गई है।

चुनाव की पूर्व संध्या पर, हिंसा की आशंका के मद्देनजर, कामगार प्रमुख दुकानों और स्टोरों पर सुरक्षा के लिए लकड़ी के फ्रेम लगाते दिखे। यह स्थिति न्यूयॉर्क से लेकर बोस्टन और ह्यूस्टन से लेकर वाशिंगटन एवं शिकागो तक देखने को मिली।

अमेरिका के 2020 के राष्ट्रपति पद के चुनावों को देश के हाल के इतिहास के सबसे विभाजनकारी चुनावों में से एक बताया जा रहा है। दोनों पक्षों के समर्थकों ने ऐलान किया है कि वे मंगलवार रात को मतगणना शुरू होने के बाद से वाशिंगटन के मध्य जुटेंगे, इनमें ‘ब्लैक लाइवज़ मैटर’ आंदोलन से जुड़े लोग भी शामिल हैं।

इस साल शुरू में जॉर्ज फ्लायड की पुलिस हिरासत में हुई मौत के बाद भड़के हिंसक प्रदर्शनों में वाशिंगटन में कई दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुंचा था। वाशिंगटन पोस्ट ने खबर दी है कि चुनाव बाद हिंसा की आशंका के मद्देनजर दुकानदार अपनी दुकानों की खिड़कियों पर लकड़ी के बोर्ड लगवा रहे हैं और अतिरिक्त सुरक्षा ले रहे हैं।

इस हफ्ते के शुरू में वॉलमार्ट ने अपनी दुकानों से बंदूकें और गोलियां हटा ली थीं। कैलिफोर्निया के बेवर्ली हिल्स के पुलिस प्रमुख ने सीबीएस न्यूज से बात करते हुए चुनाव संबंधित हिंसा को लेकर आगाह किया है।
उन्होंने कहा कि अधिकारी 12 घंटे की ड्यूटी कर रहे हैं और उन्हें कोई छुट्टी नहीं मिल रही है।

डोमिनिक रिवेती ने समाचार चैनल से कहा कि हम बुरी से बुरी स्थिति से निपटने की तैयारी कर रहे है और अच्छे की उम्मीद कर रहे हैं। सोमवार की देर शाम राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि पेंसिल्वेनिया में मतगणना को लेकर उच्चतम न्यायालय के फैसले से हिंसा भड़क सकती है।

शीर्ष अदालत ने पेंसिल्वेनिया में चुनावी दिन के तीन दिन बाद तक मतगणना की इजाजत दे दी है।
राष्ट्रपति के इस ट्वीट को ट्विटर ने चिन्हित करते हुए कहा कि इस ट्वीट में साझा की गई जानकारी विवादित है और यह चुनाव को लेकर गुमराह कर सकती है। डोमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।