Home Bihar महागठबंधन विकास विरोधी, राजद के स्वभाव में ही अराजकता : नड्डा

महागठबंधन विकास विरोधी, राजद के स्वभाव में ही अराजकता : नड्डा

0
नेशनल एक्सप्रेस
नालंदा/ लखीसराय, भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शनिवार को कांग्रेस-राजद-भाकपा माले के गठबंधन को विकास विरोधी करार दिया और कहा कि महागठबंधन का नेतृत्व करने वाले राष्ट्रीय जनता दल के स्वभाव में ही अराजकता है और इन्होंने पिछली गलतियों के लिये जनता से अभी तक माफी नहीं मांगी है ।
नालंदा और लखीसराय में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा ‘‘राष्ट्रीय जनता दल के स्वभाव में ही अराजकता है, एक बार भी इन्होंने बिहार की जनता से अपनी की गई गलतियों के लिए मांफी नहीं मांगी है। इसका मतलब ये है कि अभी भी इरादे वही हैं ।’’
राजद पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘ ये रोजगार की बात करते हैं । इन्होंने अपहरण का उद्योग चलाया । जिन्होंने अपहरण का उद्योग चलाया, वे क्या रोजगार देंगे । ’’ उन्होंने कहा, ‘‘ इनमें कोई सेवा भाव नहीं है, कोई बदलाव की चाहत नहीं है । इनका इरादा वही है । ’’
गौरतलब है कि राजद ने अपने घोषणापत्र में 10 लाख नौकरियां देने का वादा किया है । राजद नेता तेजस्वी यादव अपनी चुनावी सभाओं में रोजगार और विकास की बातें करते हैं । नड्डा ने कहा, ‘‘ हमारी सरकार आने के बाद प्रदेश लालटेन युग से निकलकर एलईडी युग में जा रहा है। बाहुबल से निकलकर विकासबल की तरफ जा रहा है । ’’
भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस, राजद द्वारा भाकपा माले के गठबंधन बनाने की भी आलोचना की । उन्होंने कहा कि ये लोग ‘टुकड़े-टुकड़े’ की बातें करते हैं । नड्डा ने कहा, ‘‘ राजद अराजकता पर विश्वास करता ही है, अब उसने भाकपा-माले से दोस्ती कर ली है।’’ राजद पर निशाना साधते हुए नड्डा ने कहा, ‘‘ जो (माले) देश को खंडित करना चाहते हैं, जो देश के टुकड़े-टुकड़े करने की बात करते हैं, उनके साथ सीटों का बंटवारा कर लिया। माले ने राजद को हाइजेक कर लिया । ’’
राजद की पूर्ववर्ती सरकार के दौरान कानून-व्यवस्था की खराब स्थिति का जिक्र करते हुए नड्डा ने कहा कि शाम के बाद लोग घर से नहीं निकलते थे । उन्होंने इस संदर्भ में बाहुबली शहाबुद्दीन का भी जिक्र किया । नड्डा ने कहा कि राम मंदिर के मामले में एक पक्ष के वकील कपिल सिब्बल ने उच्चतम न्यायालय में इस मामले को लटकाने का प्रयास किया और शीर्ष अदालत ने हर दिन सुनवाई (डे-टु-डे) करके फैसला सुनाया । उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय ने सर्व सम्मति से राम मंदिर के पक्ष फैसला दिया ।
भाजपा अध्यक्ष जब राम मंदिर का जिक्र कर रहे थे तब लोगों ने कई बार ‘जयश्रीराम’ के नारे लगाये । नड्डा ने राहुल गांधी सहित कांग्रेस नेताओं पर पाकिस्तान की भाषा बोलने का आरोप लगाया । भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त राष्ट्र में अपनी बात रखने के लिये राहुल गांधी के बयानों का जिक्र करते है ।
उन्होंने कांग्रेस नेता शशि थरूर और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम के बयानों की भी निंदा की । नड्डा ने कहा की जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास 303 सांसद हुए तो धारा 370 को निरस्त किया। कृषि संबंधी तीन कानूनों के संदर्भ में नड्डा ने कहा कि कृषि सुधार कानूनों के माध्यम से प्रधानमंत्री ने किसानों को उनकी उपज मंडी के अलावा कहीं भी बेचने की सुविधा दी है।
उन्होंने कहा, ‘‘ किसान अपनी फसल अब जहां चाहेगा, वहां बेच सकेगा। इसके अलावा फसल की लागत का डेढ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य किसानों के लिए तय करने का काम भी किया गया है।’’ नड्डा ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के माध्यम से आत्मनिर्भर बिहार होगा। उन्होंने कहा कि बिहार में रोजगार के अवसर पैदा करना सरकार की जिम्मेदारी है और 19 लाख लोगों को रोजगार देने का काम राजग की नीतीश सरकार करेगी।
राजग सरकार के कार्यों का जिक्र करते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नरेन्द्र मोदी की सरकार आने के बाद बिहार को 11 मेडिकल कॉलेज दिए गए, कई नेशनल हाइवे बनाए गए, रेलवे लाइनों के विस्तार का काम किया गया। उन्होंने कहा कि पहले चुनाव में प्रत्याशी जाति और वर्ग के आधार पर वोट मांगते थे लेकिन नरेन्द्र मोदी ने भारत की राजनीति की चाल, चरित्र, संस्कृति बदल डाली है।
नड्डा ने कहा, ‘‘ अब किसी को भी वोट मांगना हो तो वो अपने द्वारा किए गए कामों को गिनाकर रिपोर्ट कार्ड के आधार पर वोट मांग रहा है।’’ उन्होंने कहा कि बिहार मोदी के मार्गदर्शन में और नीतीश के नेतृत्व में विकास की नई कहानी लिख रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मोदी है तो विकास है, नीतीश है तो विकास है लेकिन राजद में विकास नहीं है ।’’