Home Bihar सीएम नीतीश कुमार ने यदि 15 वर्षों में काम किया हैं तो...

सीएम नीतीश कुमार ने यदि 15 वर्षों में काम किया हैं तो अकेले चुनाव लड़े : पप्पू यादव

0

रघुवंश बाबू के निधन पर सीएम और पीएम कर रहे हैं राजनीति।
मनरेगा को किसानों के खेतों तक पहुंचाया जाए और मजदूरों के भत्ते बढ़ाये जाए। नेशनल एक्सप्रेसब्यूरो,बिहार:
सीएम नीतीश कुमार ने यदि 15 वर्षों में काम किया हैं तो अकेले चुनाव लडें। वह अकेले चुनाव नहीं लड़ सकते इसलिए नरेन्द्र मोदी का सहारा ले रहे हैं। 15 वर्षों में बिहार से न गरीबी दूर हुई और न ही युवाओं को रोजगार मिला और शिक्षा और स्वास्थ्य की स्थिति भी नहीं सुधरी।पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय बनाने के लिए उनका आग्रह नरेन्द्र मोदी ने तुरंत ठुकरा दिया। नीतीश कुमार सिर्फ एक जिला नालंदा के मुख्यमंत्री हैं और एक जाति के नेता हैं।वह कभी बिहार और बिहारियों के मुख्यमंत्री नहीं बन पाए। उनके विशेष राज्य के दर्जे और विशेष पैकेज की मांग का क्या हुआ? उक्त बातें जन अधिकार पार्टी(लो)के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कही। जाप अध्यक्ष ने कहा कि रघुबंश बाबू जब जिन्दा थे तो नीतीश कुमार ने उनका उपहास उड़ाया और आज गुणगान कर रहे हैं।जो नरेन्द्र मोदी मनरेगा को भ्रष्टाचार की पोटली बताते थे वह आज मनरेगा के लिए रघुवंश बाबू को धन्यवाद दे रहे हैं। आज अब जब रघुवंश बाबू इस दुनिया में नहीं रहे तो इन्हें रघुवंश बाबू की याद आ रही हैं।मनरेगा को कमजोर करने वाले अब रघुवंश बाबू के लाश पर राजनीति कर रहे हैं।लालू यादव के बाद उनके परिवार ने रघुवंश बाबू की इज्जत नहीं की।मैं पहला व्यक्ति था जिसने रघुवंश बाबू को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की थी।उनके जैसे नेता बिहार में बहुत कम हुए। बैशाली के धरोहर को नीतीश कुमार ने जबरन पटना लाया।बिहार सरकार को बैशाली के धरोहर को लौटना चाहिए। यही रघुवंश बाबू को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। पप्पू यादव ने कहा कि मनरेगा को किसानों के खेतों तक पहुंचाया जाए और इस योजना में कार्य करने वाले मजदूरों के भत्ते बढ़ाये जाए। उन्होंने आगे कहा कि अगर हमारी पार्टी सत्ता में आई तो किसानों को मनरेगा से जोड़ेंगे। बिहार को पर्यटन का केंद्र बनायेंगे और देश का सबसे सुरक्षित राज्य बनाएंगे जहां आम आदमी सुकून से जी पाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने कभी बिहार की चिंता नहीं की।प्रधानमंत्री सिर्फ ड्रामा करते हैं।जीएसटी का पैसा अभी तक नहीं दिया हैं और बाढ़ में भी राहत कार्यों के लिए पर्याप्त पैसे नहीं दिए।लॉकडाउन के दौरान मुकेश अंबानी की संपत्ति में सवा दो लाख करोड़ की वृद्धि हुई और देश की जीडीपी 24 गिर गई। 15 करोड़ लोगों से काम छीन गया।बिना नौकरी के बिहार और देश आत्मनिर्भर कैसे बनेगा? पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान कुल 1 लाख 60 हजार करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा की थी लेकिन वह आज तक नहीं मिला। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उमेश गुप्ता,दिनेश पासवान,इंजमाम हक,शोहेब जमाई,कृष्ण कुमार ने जाप की सदस्यता ग्रहण की।इस दौरान पप्पू यादव ने शोहेब जमाई को जाप का प्रवक्ता नियुक्त किया। इस दौरान कार्यकारी अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह कुशवाहा,राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पू,प्रदेश उपाध्यक्ष अवधेश लालू और पार्टी के अन्य नेता मौजूद थें।