Home Rajasthan नया जीवन मिला तो जाना प्लाज्मा का महत्व

नया जीवन मिला तो जाना प्लाज्मा का महत्व

0

लोगों को मदद करने के लिए प्रेरित कर रही टीम जीवनदाता
कोटा। कोरोना के भय ने कहीं रिश्तों को दूर किया तो कहीं अनजान को अपना बनाने का काम किया है। कई मरीज रिकवर होकर आए तो किसी ने जान भी गवाई है। ऐसे ही दो व्यवसाइयों ने बुधवार को प्लाज्मा डोनेशन किया। टीम जीवनदाता के संयोजक व लायंस क्लब के जोन चैयरमैन भुवनेश गुप्ता ने बताया कि विज्ञान नगर निवासी व्यवसायी राजीव अग्रवाल (47) ओ पॉजिटिव ने प्लाज्मा का महत्व समझा और एमबीएस पहुंचकर प्लाज्मा डोनेट किया।

राजीव ने बताया कि उनके परिवार में पांच लोग कोरोना पॉजिटिव आए थे। पूरे घर में देहशत का माहौल हो गया था। शहर के जाने माने व्यवसायी उनके भाई कृष्णकांत अग्रवाल की कोरोना से मौत भी हो गई। ऐसे में उनके परिवार पर वज्रपात हुआ और उन्होंने उस समय प्लाज्मा की उपयोगिता को जाना। उन्होंने संकल्प लिया कि यदि मौका मिला तो प्लाज्मा डोनेशन करेंगे। ऐसे में उन्होंने दूसरे के जीवन को बचाने के लिए प्लाज्मा डोनेशन किया।

वहीं दूसरे व्यवसायी जवाहर नगर निवासी मुकेश सोनी (38) बी पॉजिटिव भी कोरोना पॉजिटिव हुए और नेगेटिव होकर जिंदगी की जंग जीत ली। उनकी हालत बेहद खराब थी, आईसीयू में रहते उन्होंने कई लोगों को घर जाते देखा तो कई लोगों को भगवान के घर जाते भी देखा। ऐसे में उन्होंने अपने आप को वचन दिया कि वह जब ठीक होंगे तो समाज के लिए हमेशा तत्पर रहेंगे। ऐसे में लम्बी लडाई लडने के बाद वह ठीक हुए और उन्होंने समाजिक सेवा का कार्य शुरू किया।

इसी के तहत उन्होंने टीम जीवनदाता के सहयोग से प्लाज्मा डोनेशन किया। इसके इस कार्य में मनीष माहेश्वरी, नितिन मेहता, महेन्द्रा वर्मा, राम प्रसाद मीणा सहित कई लोगों का सहयोग रहा।
लोगों को प्रेरित करने का अभियान होगा तेज

भुवनेश गुप्ता ने बताया कि टीम जीवनदाता के सदस्य लोगों को मोटिवेट कर रहे हैं, ऐसे में इस अभियान को और तेज किया जाएगा। आमजन के साथ कोरोना की जंग जीतने वालों को प्रेरित कर प्लाज्मा डोनेशन को बढाया जाएगा। इस कार्य में शहर के युवा व सामाजिक क्षेत्र में अपनी महत्ती भूमिका निभाने वालों का सहयोग लिया जाएगा।