Home Jharkhand गुमला जिले में सरकारी स्तर पर 108 ऐम्बुलेंस सेवा के तहत 11,408...

गुमला जिले में सरकारी स्तर पर 108 ऐम्बुलेंस सेवा के तहत 11,408 एम्बुलेंस सेवा के तहत 12 तथा गैर सरकारी स्तर पर 12 ऐम्बुलेंस सेवा उपलब्ध हैं- सिविल सर्जन

0
नेशनल एक्सप्रेस ब्यूरो,
झारखंड:गुमला के उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा द्वारा गुमला जिले में मरीजों को अस्पताल पहुंचाने, गर्भवती माताओं को संस्थागत प्रसव के लिए ऐम्बुलेंस सेवा की स्थिति, दुर्घटना में घायलों को ईलाज के लिए अस्पताल एवं स्वास्थ्य केंद्रों में पहुंचाने तथा कोरोना संक्रमण से संक्रमित मरीजों को क्वारनटाइन/ आईसोलेशन सेंटर शिफ्ट करने तथा स्वस्थ मरीजों को घर पहुंचाने के लिए जिले में उपलब्ध ऐम्बुलेंस के संबंध में जानकारी मांगी गई थी।
असैनिक शल्य चिकित्सक सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी(सिविल सर्जन) द्वारा प्रतिवेदित किया गया है कि गुमला जिले में सरकारी स्तर पर 108 ऐम्बुलेंस सेवा के तहत 11,408 एम्बुलेंस सेवा के तहत 12 तथा गैर सरकारी स्तर पर 12 एम्बुलेंस संचालित हैं।
408 ऐम्बुलेंस सेवा :-
सिविल सर्जन ने प्रतिवेदित किया है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चैनपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिशुनपुर,स्टेट डिस्पेंसरी नेतरहाट,बिशुनपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भरनो,पालकोट,कामडारा, घाघरा,डुमरी एवं रायडीह, रेफरल अस्पताल सिसई एवं बसिया तथा सदर अस्पताल गुमला में ऐम्बुलेंस 408 के तहत ऐम्बुलेंस सेवा उपलब्ध है।सदर अस्पताल के ऐम्बुलेंस के प्रभारी डॉ.आनंद किशोर उराँव हैं।अन्य सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र/ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी संबंधित ऐम्बुलेंस के नियंत्रण पदाधिकारी हैं।
108 ऐम्बुलेंस सेवा :
108 ऐम्बुलेंस सेवा के तहत सदर अस्पताल में 02, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रायडीह में 02,बसिया में 02 तथा चैनपुर,बिशुनपुर, घाघरा,सिसई एवं पालकोट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 01-01 ऐम्बुलेंस सेवा उपलब्ध है।सदर अस्पताल के ऐम्बुलेंस के प्रभारी डॉ. आनंद किशोर उराँव हैं।अन्य सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र/ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी संबंधित ऐम्बुलेंस के नियंत्रण पदाधिकारी हैं।
गैर सरकारी ऐम्बुलेंस सेवा :-
गुमला जिले में संचालित गैर सरकारी अस्पताल एवं सामाजिक संगठनों द्वारा भी आपातकालीन स्थिति में बीमार मरीजों एवं घाय़लों को चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिए ऐम्बुलेंस सेवा उपलब्ध है।संत उर्सुला हॉस्पिटल कोनबीर नवाटोली बसिया,लिवेंस बर्वे अस्पताल रामपुर कामडारा,भगवती हेल्थकेयर सेंटर घाघरा सहित विकास भारती बिशुनपुर, अंजुमन इस्लामिया गुमला, मारवाड़ी युवा मंच गुमला, रौतिया समाज गुमला,जय सरना समिति देवाकी घाघरा, उर्सुलाईन कॉनवेंट टोंगो चैनपुर,उर्सुलाइन कॉनवेंट गुमला,तेली उत्थान केंद्र गुमला तथा झारखंड पददा खोड़हा के द्वारा भी ऐम्बुलेंस सेवा का संचालन किया जाता है।
सिविल सर्जन ने जानकारी दी कि जिले में सरकारी एवं गैर सरकारी स्तर पर संचालित सभी ऐम्बुलेंस सेवाएं वर्तमान में चालू स्थिति में है।वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के काल में गुमला जिले में संक्रमित मरीजों को ईलाज के लिए क्वारनटाईन सेंटर/ आईसोलेशन सेंटर में शिफ्ट करने में ऐम्बुलेंस सेवा का बेहतर सदुपयोग किया गया है।इसके साथ ही कोरोना संक्रमण से स्वस्थ मरीजों को ऐम्बुलेंस के माध्यम से उनके घर तक पहुंचाया गया है। जिले में सड़क दुर्घटना में घायलों की सूचना मिलने पर संबंधित क्षेत्र के ऐम्बुलेंस के द्वारा समुचित ईलाज के लिए प्रभावितों को स्वास्थ्य केंद्र/ अस्पताल पहुंचाने की सुविधा प्रदान की गई है।गंभीर बीमारी से ग्रसित मरीजों को उत्तम चिकित्सा के लिए जिले से बाहर के अस्पतालों में भी ऐम्बुलेंस के माध्यम से भेजा गया है। 108 ऐम्बुलेंस सेवा के द्वारा गर्भवती माताओं एवं घायलों को चिकित्सा के लिए अस्पताल/ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पहुंचाने का कार्य किया गया है।