Home MadhyaPradesh समाचार एंकर ने कहा-पिता तुल्य हैं आईपीएस अधिकारी, बेटा कहकर बुलाते हैं

समाचार एंकर ने कहा-पिता तुल्य हैं आईपीएस अधिकारी, बेटा कहकर बुलाते हैं

0

भोपाल, 29 सितंबर (भाषा) मध्य प्रदेश के एक क्षेत्रीय टीवी चैनल की महिला समाचार एंकर ने अपनी प्रतिष्ठा को धूमिल करने का आरोप लगाते हुए प्रदेश के वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी पुरुषोत्तम शर्मा की पत्नी और बेटे के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है । पुलिस ने इसकी जानकारी दी ।भारतीय पुलिस सेवा के 1986 बैच के एक अधिकारी का दो वीडियो शोसल मीडिया में वायरल होने के बाद प्रदेश सरकार ने उनका तबादला करते हुए उन्हें कार्यमुक्त कर दिया था ।

दरअसल, एक वीडियो में वह पत्नी के साथ मारपीट करते दिख रहे हैं वहीं उनकी पत्नी द्वारा रिकार्ड किये गये दूसरे वीडियो में शर्मा महिला एंकर के घर में बैठे हुए दिखाई पड़ रहे हैं । वीडियो में दिख रहा है कि पत्नी के वहां पहुचने के बाद शर्मा वहां से निकल जाते हैं और शर्मा की पत्नी एंकर के घर का मुआयना करते और पूछताछ करती दिखाई दे रही हैं। एंकर ने शर्मा की पत्नी और बेटे के खिलाफ शाहपुरा पुलिस थाने में शिकायत की है और दावा किया है कि भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी शर्मा उसके लिये ‘पितातुल्य’ हैं और शर्मा उन्हें ‘‘बेटा‘‘ कहते हैं।

शाहपुरा पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक जितेन्द्र पटेल ने कहा, ‘‘शिकायत में एंकर ने कहा है कि समाज में उसकी निजता और छवि का बहुत नुकसान हुआ है और उसकी बदनामी हुई है।’’ एंकर ने मांग की है, ‘‘पुलिस इस मामले में उचित कार्रवाई कर मुझे मानसिक प्रताड़ना से निजात दिलाने की कृपा करें।’’ एंकर ने कहा, ‘‘चूंकि पत्रकारिता से जुड़े होने के कारण मेरा मिलना-जुलना कई बार अधिकारियों और राजनेताओं से होता रहता है। मेरे साथ मेरा 11 साल का बेटा भी रहता है और मैं ग्वालियर के एक प्रतिष्ठित और संभ्रांत परिवार से हूं।’’ उसने आगे लिखा, ‘‘रविवार 27 सितंबर 2020 को शाम करीब सात बजे डीजी पुरुषोत्तम शर्मा जी का फोन मेरे पास आया कि वह मेरे घर से पास ही हैं तो मैंने उन्हें चाय पर आमंत्रित कर दिया।

’’ एंकर ने कहा, ‘‘ डीजी साहब के आने के बाद थोड़ी देर बाद उनकी पत्नी भी आ गई। उन्होंने (पत्नी) घंटी बजाई हालांकि मैं उन्हें नहीं जानती थी लेकिन मैंने दरवाजा खोला तो वह (शर्मा की पत्नी) जबरन अचानक मेरे घर में घुस आई। डीजी साहब ने बताया कि वह उनकी पत्नी हैं, तब मैंने उन्हें भी बैठने और चाय के लिये पूछा। लेकिन मेरे सामने ही उनकी और शर्मा जी की कहा सुनी शुरु हो गयी। दोनों की बीच बहस हुई और डीजी साहब वहां से चले गये।’’ उसने बताया कि बाद में शर्मा की पत्नी ने उसके घर पर रुककर उससे अनावश्यक सवाल पूछे और उसके बेडरुम की रिकार्डिग भी की। इस वीडियो को शर्मा के बेटे पार्थ शर्मा द्वारा सोशल मीडिया पर वायरल कर अनर्गल आरोप लगाये जा रहे हैं।

एंकर ने कहा कि जैसा उसे प्रस्तुत किया जा रहा है वस्तुत: ऐसा कुछ भी नहीं है। डीजी साहब मेरे लिये ‘‘पितातुल्य’’ हैं और वह मुझे बेटा कहकर ही बात करते हैं मेरे घर पर उनका चाय पीने आना इतना बड़ा घटनाक्रम बन जाएगा, इसका मुझे अंदाजा नहीं था।

उसने कहा, ‘‘मेरे उस वीडियो को सोशल मीडिया में गलत तरीके से प्रस्तुत और प्रचारित किया जा रहा है। जिससे मेरे मान-सम्मान और निजता का हनन हो रहा है। मेरे संस्थान जिसमें में प्रथम दिन से कार्यरत हूं उसने भी मुझसे सफाई मांगी है और मेरा करियर, मेरी नौकरी दांव पर है। मेरे परिवार और मेरी निजी जिंदगी भी इस एक वीडियो से मानसिक अवसाद में आ गयी है।

थाना प्रभारी ने पीटीआई — भाषा से कहा, ‘चूंकि यह किसी की छवि खराब करने का मामला है इसलिये इसकी केवल अदालत में शिकायत दर्ज की जा सकती है।’ मध्यप्रदेश के गृह विभाग के अवर सचिव अन्नू भलावी ने सोमवार को पुरुषोत्तम शर्मा को संचालक, लोक अभियोजन के पद से तत्काल कार्यमुक्त कर बिना पद के सचिवालय में स्थानांतरित करने का आदेश जारी किया।

भलावी ने सोमवार को शर्मा को जारी नोटिस में कहा, ‘‘सोशल मीडिया पर आपसे संबंधित दो वीडियो वायरल हुए हैं, जिनमें आपके द्वारा अनैतिक आचरण एवं पत्नी के साथ घरेलू हिंसा किया जाना प्रथम दृष्टया परिलक्षित हो रहा है। वीडियो की सॉफ्ट कॉपी संलग्न है।’’ नोटिस में आगे कहा गया है, ‘‘आपके द्वारा किये गये उक्त कृत्य ने आपको अखिल भारतीय सेवा नियम के अंतर्गत अनुशासनात्मक कार्यवाही का दायी बना दिया है। वीडियोज में परिलक्षित आचरण के लिये क्यों न आपके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाए। उक्त संदर्भ में अपना प्रत्युतर दिनांक 29 सितंबर 2020 को शाम 5:30 बजे तक प्रस्तुत करें।’’ नोटिस में कहा गया कि उत्तर देने में विफल रहने पर यह माना जायेगा कि इस संबंध में आपके द्वारा कोई प्रतिवाद नहीं है तथा प्रकरण में नियमानुसार एकतरफ़ा कार्यवाही की जाएगी।

शर्मा के पुत्र तथा आयकर विभाग में उपायुक्त पार्थ (32) ने प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और वरिष्ठ अधिकारियों को यह वीडियो भेजकर उनसे अनुरोध किया कि उनके पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज की जाये।

शर्मा ने कहा कि 32 साल का मेरा वैवाहिक जीवन है यह एक पारिवारिक मामला है, अपराध का नहीं….मैं अपराधी नहीं हूं। मैं जहां जाता हूं मेरी पत्नी मेरी निगरानी करती है। मैं इससे निपट रहा हूं। उन्होंने कहा कि एक परिवार में लड़ाई के लिये कोई स्थान नहीं है।

इसबीच, सोमवार देर शाम को मध्यप्रदेश महिला आयोग ने शर्मा को नोटिस जारी कर उन्हें पांच अक्टूबर को आयोग के कार्यालय में तलब किया है। इसके साथ ही आयोग ने शर्मा की पत्नी को सुरक्षा उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं।