Home UTTARAKHAND बाजारों में नहीं दिख रहा कोरोना का डर

बाजारों में नहीं दिख रहा कोरोना का डर

0

नेशनल एक्सप्रेस ब्यूरो रुड़की। बेकाबू होती कोरोना संक्रमण की रफ्तार के बावजूद आम लोगों में महामारी को लेकर डर नहीं दिख रहा है। बाजारों, सार्वजनिक स्थलों पर बनी भीड़ और बिना मास्क के घुमते लोग साफ तौर पर इसकी बानगी बयां कर रहे हैं। हालांकि पुलिस ऐसे लोगों पर चालान की कार्रवाई कर उन्हे मास्क के प्रयोग और सोशल डिस्टेसिंग का पाठ पढ़ाने में लगी है, लेकिन इसके बाद भी नियमों का पालन होता नहीं दिख रहा है। रुड़की सर्किल में वैसे तो कोरोना संक्रमण की रफ्तार 21 मई से बेकाबू बनी है। जुलाई माह के आखरी सप्ताह से लगातार सामने आ रहे मौत के आंकड़े भी डराने लगे हैं। इस सबके बावजूद आम लोगों में कोरोना को लेकर भय नजर नहीं आ रहा है। 22 मार्च को जनता कफ्र्यू के बाद से कोरोना संक्रमण को लेकर सावधानी बरतने और मास्क का प्रयोग एवं सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करने वाले लोग अब कोरोना महामारी को लेकर बेखौफ नजर आ रहे हैं। रविवार को छुट्टी के बीच जिस तरह से बाजारों, सार्वजनिक स्थलों पर लोगों की भीड़ बनी रही कम से कम उससे तो यही साफ हो रहा है। सिविल लाइंस, मेन बाजार, बीटी गंज, रामनगर, रोड़वेज बस स्टैंड, आईआईटी गेट के बाहर तो भीड़ के साथ ही अधिकतर लोग बिन मास्क के दिखे। मच्छी मोहल्ला, रामपुर चुंगी व सब्जी मंडी में भी कुछ ऐसा ही नजारा बना रहा। देहात में भी कोरोना को लेकर डर काफुर है। भगवानपुर, झबरेड़ा, पिरान कलियर, लंढौरा जैसे कस्बो में दिनभर भीड़ बनी रही। बाजारों में लोग बिन मास्क के घुमते रहे। हालांकि शहर, देहात में कई जगहों पर पुलिस ने बिन मास्क के घुमने वाले लोगों की क्लास भी ली।
उठक-बैठक लगवाने के साथ ही पुलिस ने इस बीच कई लोगों के चालान भी किए। इस बाबत एसपी देहात स्वपन किशोर सिंह का कहना है कि कोरोना संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए सोमवार से और सख्ती बढ़ाई जाएगी। खासतौर पर बाजारों व सार्वजनिक स्थलों पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन न करने और मास्क न लगाने वाले लोगों पर कार्रवाई की जाएगी।