Home Bihar निजी क्षेत्र में आबादी के हिसाब से आरक्षण और सिपाही भर्ती में...

निजी क्षेत्र में आबादी के हिसाब से आरक्षण और सिपाही भर्ती में लिखित परीक्षा को खत्म करेंगे-पप्पू यादव

0
नेशनल एक्सप्रेस ब्यूरो,
बिहार:हम सरकार में आते ही पहली कैबिनेट मीटिंग में आबादी के हिसाब से निजी क्षेत्र में आरक्षण लागू करेंगे।सिपाही भर्ती में लिखित परीक्षा को खत्म किया जाएगा।नियुक्तियां केवल दसवीं के अंक और शारीरिक दक्षता के आधा पर की जाएगी।
उक्त बातें जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने पार्टी कार्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कही।महिला सशक्तिकरण की बात करते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 50 फीसदी का आरक्षण दिया जाएगा।
गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवारों में जन्म लेने बेटियों के नाम पर हमारी सरकार एक लाख रुपए बैंक में फिक्स करवाएगी।एनडीए और महागठबंधन पर हमला बोलते हुए पप्पू यादव ने राजनीति को व्यापार बना दिया गया है।जनता से कहा जा रहा कि आप हमें जिताएं तब हम आपको कोरोना वायरस का टीका और नौकरी देंगे। 30 वर्षों में उद्योग-धंधों को बर्बाद कर अपराध का उद्योग स्थापित किया है।
जाप अध्यक्ष ने कहा कि सत्ता में आने के बाद हमारी पांच प्राथमिकता होगी।दो बीघा से कम जमीन वाले परिवारों को कैंसर,ब्रेन ट्यूमर जैसी घातक बीमारियों का मुफ्त इलाज करवाया जाएगा और अल्ट्रासाउंड,सीटी-स्कैन, एमआरआई टेस्ट भी फ्री किया जाएगा।
इंटर के बाद उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे गरीबी रेखा से नीचे आने वाले परिवार के बच्चों को हर महीने 8,000 रुपए दिए जाएंगे ताकि वे बिना किसी आर्थिक समस्या के अच्छे से पढाई कर सकें।साथ ही फ्री कोचिंग की शुरुआत की जाएगी।
पप्पू यादव ने आगे कहा कि हर पंचायत में एंबुलेंस की व्यवस्था की जाएगी।जब तक युवाओं को कम से कम 20,000 रुपए की नौकरी नहीं मिल जाएगी तब तक हमारी सरकार हर युवा को 6,000 रुपए देगी। हर किसान के खेत तक पानी पहुंचाई जाएगी।इस मौके पर जाप नेत्री रानी चौबे समेत पार्टी के अन्य नेता मौजूद थे।