Home Maharashtra कुछ लोग राजग में सेंध लगाना चाहते हैं, ऐसे लोगों से सावधान...

कुछ लोग राजग में सेंध लगाना चाहते हैं, ऐसे लोगों से सावधान रहें : नड्डा का चिराग पर निशाना

0

नेशनल एक्सप्रेस
औरंगाबाद/ पूर्णिया भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने सोमवार को लोजपा नेता चिराग पासवान पर परोक्ष निशाना साधते हुए कहा कि चुनाव के समय कुछ लोग षड्यंत्र कर सेंध लगाना चाहते हैं लेकिन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन एकजुट है और ‘‘हमें सेंध लगाने वालों से भी सावधान रहना है ।’’

नड्डा ने औरंगाबाद और पूर्णिया में चुनावी रैलियों को संबोधित किया । उन्होंने कहा, ‘‘ कुछ लोग चुनाव में षड्यंत्र करते हैं, वो चाहते हैं कि हमारे बीच सेंध लगे। वे एक तरफ तो नीतीश् कुमार को भला-बुरा कहते हैं और दूसरी तरफ मोदीजी की तारीफ करते हैं । ’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हमें याद रखना कि राजग एक है। भाजपा, जदयू, वीआईपी और हम पार्टी … यही राजग है । ऐसे में हमें सेंध लगाने वालों से भी सावधान रहना है । ’’

गौरतलब है कि बिहार चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन से अलग होने के बाद भी चिराग, भाजपा के प्रति नरम रुख अपनाए हुए हैं, लेकिन वह नीतीश कुमार पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे । हाल में चिराग ने स्वयं को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ‘हनुमान’ बताया था ।

बहरहाल, विपक्षी राजद पर निशाना साधते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ ये वही लोग हैं जिन्होंने बिहार में अराजकता फैलाई थी। गुंडागर्दी चरम पर थी, अपरहण एक उद्योग बन गया था। बिहार (का आदमी) पलायन कर रहा था और आज ये लोग नौकरी देने की बात कर रहे हैं । ’’

तेजस्वी यादव की पार्टी पर प्रहार जारी रखते हुए नड्डा ने कहा कि जिन्होंने बिहार में अराजकता फैलाई थी, प्रदेश में अपहरण उद्योग चलाया, लोगों को पलायन के लिए मजबूर किया…..वे क्या बिहार का विकास करेंगे?

उन्होंने कहा, ‘‘ लालू जी के वक्त में गरीब, समृद्ध, शिक्षित सभी ने मजबूरी में बिहार से दूरी बना ली। राजद का चरित्र अभी तक नहीं बदला है। ’’

नड्डा ने कहा, ‘‘जबसे राजग के साथ नीतीश कुमार का गठबंधन हुआ है तबसे बिहार ने विकास की तीव्र गति पकड़ी है । मैं व्यक्तिगत रूप ने बिहार की मिट्टी को पहचानता हूं और इसीलिए कह सकता हूं कि डबल इंजन की सरकार बिहार के लिए जरूरी है।’’

उन्होंने कहा कि नरेन्द्र मोदी ने बिहार के विकास के लिए 1.25 लाख करोड़ रुपये का पैकेज दिया था और प्रधानमंत्री ने 1.25 लाख करोड़ रुपये से विकास कार्य कराए ही, साथ ही 40 हजार करोड़ रुपये भी बिहार के विकास के लिए दिए ।

उन्होने कहा , ‘‘ जो (भाकपा-माले) देश को खंडित करना चाहते हैं, जो देश के टुकड़े-टुकड़े करने की बात करते हैं, उनके साथ सीटों का बंटवारा कर लिया। माले ने राजद को हाइजेक कर लिया । ’’

नड्डा ने आरोप लगाया कि भाकपा माले ने स्वयंसेवकों को, रामभक्तों को मारा था। इन विध्वंसकारी लोगों के साथ अराजकता से चली पार्टी के लोग मिल गए हैं, और उनके साथ कांग्रेस पार्टी मिल गई है ।

राजद की पूर्ववर्ती सरकार के दौरान कानून व्यवस्था की खराब स्थिति का जिक्र करते हुए नड्डा ने कहा कि शाम के बाद लोग घर से नहीं निकलते थे । उन्होंने इस संदर्भ में बाहुबली शहाबुद्दीन का भी जिक्र किया और कहा कि नीतीश के आने के बाद अपराध पर नियंत्रण हुआ ।

नड्डा ने कहा कि राम मंदिर के मामले में एक पक्ष के वकील कपिल सिब्बल ने उच्चतम न्यायालय में इस मामले का लटकाने का प्रयास किया और शीर्ष अदालत ने हर दिन सुनवाई (डे टु डे) करके फैसला सुनाया ।
नड्डा ने राहुल गांधी सहित कांग्रेस नेताओं पर पाकिस्तान की भाषा बोलने का आरोप लगाया ।

भाजपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त राष्ट्र में अपनी बात रखने के लिये राहुल गांधी के बयानों का जिक्र करते है । उन्होंने कांग्रेस नेता शशि थरूर और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम के बयानों की भी निंदा की ।

नड्डा ने कहा कि पहले लोग नारे लगाते थे कि एक देश में ‘‘दो विधान दो निशान’’ नहीं चलेंगे, जब मोदी के पास 303 सांसद हुए तो अनुच्छे 370 को निरस्त किया गया। नड्डा ने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश की जल, थल, नभ की सभी सीमाएं सुरक्षित हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले छह साल में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में अरुणाचल प्रदेश से लेकर गलवान घाटी तक 4,700 किमी की चार लेन सड़क पूर्ण हो चुकी है ।

कोविड-19 से निपटने में सरकार के कार्यो का जिक्र करते हुए नड्डा ने कहा कि कोरोना संक्रमण के समय जब लॉकडाउन लगा तब देश के पास मात्र एक जांच लेबोरेटरी थी और आज देश के पास 1600 टेस्टिंग लैब हैं तथा प्रतिदिन जांच भी काफी बढ़ी हैं और पीपीई किट एवं अन्य उपकरणों का भी देश में ही उत्पादन हो रहा है ।

उन्होंने कहा, ‘‘ चुनाव में आज हमारे उम्मीदवार विकास की बात करते हैं। सरकार की उपलब्धियां बताते हैं। लेकिन 15 साल पहले जब बिहार में कोई चुनावी सभा करता था तो जाति, धर्म की बात होती थी, समाज को बांटने की बात होती थी। नरेन्द्र मोदी के आने के बाद राजनीति में ये बदलाव आया है । ’’