Home Bihar पिछले 15 वर्ष में बिहार में स्थितियां काफी बदली : नीतीश कुमार

पिछले 15 वर्ष में बिहार में स्थितियां काफी बदली : नीतीश कुमार

0
नेशनल एक्सप्रेस,
ईमामगंज/ओबरा, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शु्क्रवार को विपक्ष पर ‘काम करने की आदत और समझ नहीं’ होने का आरोप लगाया और दावा किया कि पिछले 15 वर्ष में उनकी सरकार ने सड़क, स्वास्थ्य, बिजली सहित हर क्षेत्र में विकास का काम किया और राज्य की स्थिति पहले से काफी बदली है।

गया के ईमामगंज और बेलागंज, औरंगाबाद के ओबरा, अरवल के कुर्था में चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने कहा, ‘‘ 15 साल से हमें काम करने का मौका मिला। हमने हर क्षेत्र में काम और विकास किया है, चाहे सड़क हो, शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो, बिजली हो, पानी हो । हर बार कुछ ज्यादा करने की कोशिश की है।’’

राजद नेता लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि हमसे पहले पति-पत्नी को राज करने का मौका मिला लेकिन पहले कानून का राज नहीं था और आपराधिक घटनाएं होती थी। उन्होंने कहा, ‘‘पहले जो स्थिति थी और आज जो स्थिति है….. उसमें बहुत अंतर है। ’’

विपक्ष पर निशाना साधते हुए बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि जिसको कोई काम करने की आदत नहीं है, न ही कोई समझ है, वे कुछ भी बोलते रहते है।

अपनी सरकार के कार्यो का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उसने बिहार का बहुमुखी विकास किया है और प्रति व्यक्ति आमदनी में साढ़े दस प्रतिशत की सालाना वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा, ‘‘हमने कहा था कि न्याय के साथ विकास, हर वर्ग का विकास, हर क्षेत्र का विकास और हमने वह किया है। ’’

नीतीश कुमार ने पूर्ववर्ती सरकार के दौरान कानून एवं व्यवस्था की स्थिति का जिक्र करते हुए कहा कि तब अपराध और अराजकता अपने चरम पर थी। उन्होंने कहा, ‘‘न्याय यात्रा के दौरान हमने कहा था हम न्याय के साथ समाज का विकास करेंगे और हमने वही किया।’’ उन्होंने कहा कि आज अपराध के दृष्टि से बिहार एक सुरक्षित राज्य है अपराध के मामले में यह 23वें स्थान पर पहुंच गया है।

राजग के लिेये समर्थन मांगते हुए उन्होंने कहा कि आबादी के अनुसार हमने सबको आरक्षण देकर सशक्त बनाया और पहले लोग अपने छोटे मोटे काम के लिए दूसरों के दरवाजे पर भटकते थे, आज लोगों को अपने काम के लिए उनके घर तक आना पड़ता है। उन्होंने दावा किया कि बदलाव हुआ है और बिहार में सबको समानता और सम्मान का अधिकार मिला है।

कुमार ने राज्य में महिलाओं के सशक्तिकरण के कार्यो का उल्लेख करते हुए कहा कि हमने उन्हें आरक्षण दिया और आज पंचायती राज में महिला जनप्रतिनिधि बनी हैं।

उन्होंने कहा कि पहले बिहार पुलिसबल में महिलाएं न के बराबर थीं और आज देखिए बिहार पुलिसबल में जितनी महिला पुलिसकर्मी हैं, शायद ही देश के किसी राज्य में होंगी।

शिक्षा के क्षेत्र में किये गए कार्यो का उल्लेख करते हुए कुमार ने कहा कि लोग इच्छा से बिहार से बाहर पढ़ने जा सकते हैं लेकिन किसी को अब मजबूरन अच्छी शिक्षा के लिए बिहार से बाहर जाने की आवयश्कता नहीं होगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हर तबके हर समुदाय को हमने विकास की मुख्यधारा से जोड़ा है और महिलाओं समेत हर वर्ग के उत्थान के लिए हमने विशेष पहल की तथा दुनिया के कई मुल्कों से आकर लोगों ने हमारी साइकिल योजना का अध्ययन किया।’’ नीतीश कुमार ने कहा कि अगर उन्हें फिर मौका मिला तब सात निश्चय द्वितीय चरण के तहत जन कल्याण के कार्यो को आगे बढ़ायेंगे ।

कुमार ने कोरोना के समय राज्य में आने वाले यहां के श्रमिकों को पहुंचायी गई सहायता का भी जिक्र किया और कहा कि यह देश सबका है, सबका अधिकार है कि इस देश में कहीं भी जाकर रहें एवं कमाएं। उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी को प्रवासी नहीं मानते।’’