Home Bihar पुलवामा हमले पर पाकिस्तान के मंत्री की स्वीकारोक्ति के बाद कांग्रेस...

पुलवामा हमले पर पाकिस्तान के मंत्री की स्वीकारोक्ति के बाद कांग्रेस मौन क्यों : राजनाथ सिंह

0
नेशनल एक्सप्रेस
पीरपैंती (भागलपुर), भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रश्न किया कि पुलवामा हमले में पाकिस्तान का हाथ होने की पड़ोसी देश के मंत्री की स्वीकारोक्ति के बाद कांग्रेस मौन क्यों है और उसके नेताओं की बोलती क्यों बंद है?

पीरपैंती के प्रगति मैदान में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘पुलवामा हमले पर पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में एक मंत्री ने बयान देकर वास्तविकता को उजागर कर दिया है। पाकिस्तान ने यह स्वीकार कर लिया है कि पुलवामा में हमला उसने ही कराया था। जबकि पूर्व में वह कहा करता था कि पुलवामा हमले में उसका हाथ नहीं था।’’

उन्होंने कहा कि पुलवामा में जब आतंकवादियों ने हमला किया था और हमारे जवान शहीद हुए थे तब कांग्रेस के लोग हमारी नियत पर सवाल उठा रहे थे। रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘अब जब पाकिस्तान के मंत्री ने नेशनल असेंबली में बयान देकर यह स्पष्ट कर दिया है कि पुलवामा हमला में पाकिस्तान का हाथ रहा था तो अब कांग्रेस के लोगों की बोलती बंद है तथा (वे) मौन क्यों हैं?’’

उन्होंने कहा कि देश के विरोधी दल के लोग परोक्ष रूप से पाकिस्तान को ताकत देने का काम कर रहे थे किंतु वे अब चुप हैं। सिंह ने आरोप लगाया कि जब भी सुरक्षा के सवाल पर हम लोग दमखम के साथ काम करते हैं तो कांग्रेस और अन्य विरोधी दल के लोग सवाल खड़े करते रहते हैं।

गौरतलब है कि पिछले साल फरवरी में जम्मू कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

सिंह ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी ने पाकिस्तान के दो टुकड़े किये थे तो अटल बिहारी वाजपेयी ने उनके क्रियाकलापों की सराहना की थी, लेकिन आज कांग्रेस का एक ही काम रह गया है, सरकार की उपलब्धियों पर संदेह और सवाल खड़े करना।

उन्होंने कहा कि सीमा सुरक्षा के नाम पर दलगत भावना से ऊपर उठकर काम करना चाहिये। रक्षा मंत्री ने पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध के संबंध में कहा कि अगर लोग सेना की उपलब्धियों के बारें जानेंगे तो खुशी से उछल पड़ेंगे। उन्होंने कहा कि गलवान में बिहार के जवानों ने शहादत देकर देश की रक्षा की।

सिंह ने अपने संबोधन के दौरान कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को समाप्त करने, श्रीराम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त होने, नागरिकता कानून में संशोधन, उज्ज्वला योजना के तहत गैस का कनेक्शन दिया जाने सहित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार की उपलब्धियां गिनायी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने हर गरीबों का बैंक खाता खुलवाया और सभी के खाते में सीधे सब्सिडी या अन्य योजनाओं की राशि पहुंच रही है।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सराहना करते सिंह ने कहा कि नीतीश के दामन पर अब तक दाग नहीं लगे हैं और अब ‘‘तेल पिलावन लाठी रैली’’ नहीं बल्कि विकास रैली होती हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हम चरवाहा स्कूल नहीं खोलते बल्कि चरवाहों के बच्चों को आईएएस, आईपीएस, इंजीनियर और डॉक्टर बनाना चाहते हैं।’’लोगों से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को जनादेश देने की अपील करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘ लालटेन का युग समाप्त हो गया है तथा अब एलईडी का युग आ गया है। दीपावली आ गई है, लक्ष्मी जी कमल के फूल पर बैठकर आती है। इसलिये तीर चलाइये, लालटेन बुझाइये और कमल का फूल खिलाइये।’’