Home Uncategorized आप भी जानिये…आधी रात को बीच सड़क पर मंत्री ने क्यों की...

आप भी जानिये…आधी रात को बीच सड़क पर मंत्री ने क्यों की अपराधों की समीक्षा?

0

-होलीगेट पर आधी रात को पलटे मथुरा कोतवाली के रजिस्टरों के पन्ने
-लखनऊ से फिरोजाबाद होते हुए मथुरा पहुंचे। सरकारी कार्यों का निरीक्षण किया। नेशनल एक्सप्रेस ब्यूरो
मथुरा।
आधी रात को बीच सडक पर सरकार ने अपराधों की समीक्षा की। पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिये और जनता को आश्वस्त किया कि संकट काल में सरकार दिनरात सजग है। शहर के उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा सराफा बाजार, डीगे गेट, चौक बाजार, द्वारकाधीष बाजार से होते हुए आधी रात को होलीगेट पहुंचे। यहां होलीगेट के ठीक सामने कुर्सी डालकर बैठ गये। यह पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ही जनता के लिए चौंकाने वाला था। पुलिस अधिकारी ज्यादा कुछ समझ पाते इससे पहले ही उन्होंने एसपी सिटी उदय शंकर और सीओ सिटी वरूण कुमार से कोतवाली थाने के अपराधिक रिकार्ड मांग लिये। बीच सडक पर आधी रात को अपराधिक समीक्षा का यह शायद शहर के लिए पहल अनुभव था। इस बीच जो लोग वहां मौजूद थे उनके लिए यह दृश्य किसी कौतुहल से कम नहीं था। पुलिस अधिकारियों से अपराध और हिस्ट्रीशीटरों की जानकारी ली। ऊर्जा मंत्री ने अधिकारियों को सुरक्षा के घेरे को और मजबूत बनाने के निर्देश दिए। शहर में सीसीटीवी की संख्या बढ़ाने पर भी जोर दिया। वहीं उन पुलिसकर्मियों के बारे में जानकारी ली, जो ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमित हुए थे। इससे पहले सराफा बाजार, डीगेट, चैक बाजार, द्वारकाधीष बाजार से होलीगेट क्षेत्रों का भी उन्होंने दौरा किया।
शनिवार को सुबह सडक मार्ग से लखनऊ से चले ऊर्जा मंत्री पहले फिरोजाबाद पहुंचे। यहां से वह सीधे वृंदावन पहुंचे और सरकार की ओर से कराये जा रहे विकास कार्यों को परखा। उन्होंने कहाकि सरकार की प्राथमिकता में यमुना का शुद्धकरण योजना है। चैरासी कोसी परिक्राम का विकास भी सरकारी की प्राथमिकता में है। ब्रज विकास बोर्ड का गठन इसी उद्देश्य से किया गया है। पूरे क्षेत्र में सुविधाओं का जाल बिछाया जा रहा है। विकास के कार्य बेहद तीव्र गति से चल रहा है। प्रोपूअर में 22 गलियों में काम चल रहा है। नगर निगम की ओर से 22 और गलियों में काम कराया जान है। यमुना शुद्धिकरण को लेकर सरकार बहुत गंभीर है, 31 मार्च तक एक सीवर के पानी की बूंद भी यमुना में न जाए यह हम प्रयास कर रहे हैं। दतिया उपकेंद्र के तहत आने वाले 517 ट्रांसफार्मर की लोड बैलेंसिंग और अन्य ट्रांसफार्मर का कार्य दिवाली से पहले शत-प्रतिशत पूरा कर लिया जाए। अर्बन व रूरल फीडर अलग-अलग किए जाएं। ग्रामीण क्षेत्रों में तारें ढीली व लटकती हुई न हों। जनसुविधा केंद्रों की निगरानी करें। साथ ही लापरवाही पर जवाबदेही तय करने के निर्देश दिए।